Bodhi News & Analysis - 14 Mar.

Ideal for Professionals, all Govt. exams, MBA ent. tests, GD-PI, school students

http://saar.bodhibooster.com, www.BodhiBooster.com, http://news.bodhibooster.com


Welcome to Bodhi News for 14 March, 2017 - from Bodhi Booster knowledge portal!


Bodhi Saar Special (Video) | बोधि सार विशेष (विडियो)

State of Indian Politics and Economy 2017-18 | भारतीय राजनीति और अर्थव्यवस्था की स्थिति २०१७-१८











Highlights | मुख्य समाचार

  • [message]
    •  Highlights for 14-03-2017
        • 1. Indian politics – Results of the assembly polls held in 5 states in Feb-Mar, 2017, were declared on March 11. The BJP got an overwhelming majority in the two larger states of UP and Uttarakhand. They have also managed to form the government in Goa, and are in the same process in Manipur. Observers feel that these results will have a long-lasting impact on the new political order in India. 
          Read our comprehensive Bodhi on State of Indian Economy and Politics
          2. Indian politics – Though the BJP secured power in Goa, but it came at the cost of India sacrificing a capable Defence Minister in the form of Manohar Parrikar who was regarded as fit for the post on the current unstable defence front. Is wresting power in a state more important than the defence capabilities of the country, remains the big question. Congress had appealed on the Goa issue in the SC. The SC has allowed the swearing-in of Manohar Parrikar as Goa Chief Minister, but has ordered a floor-test in the Assembly on Thursday, March 16, 2017 Read about the Goa situation, here
          3. Indian politics – The North-Eastern state of Manipur also went to polls recently. The results show the emergence of the BJP as an upcoming force in an area dominated all along by the Congress. The BJP ended up winning 21 seats. A big jump no doubt!
          4. Indian politics – PM Modi was felicitated on his single-handed overwhelming success in the recent assembly elections. Speaking on the occasion, the PM gave a new idea of a “New India” to be achieved by the year 2022, the Diamond Jubilee year of India’s independence.
          5. Demonetisation – The RBI has lifted all limits imposed on cash withdrawals post demonetization from March 13, 2017. This should be a sign of the economy coming to normal post demonetization.
          6. Demonetisation – The RBI has released its official assessment of the impact of demonetization on the economy ON March 10, 2017. The assessment report says that the impact of demonetization on the economy was only transient and is unlikely to have a long-term impact on the growth prospects of the economy. Earlier, the CSO figures had also indicated the same type of impact.
          7. People and personalities – The recent assembly election results have raised the worries of AAP convener Arvind Kejriwal.  The party was a strong contender in Punjab, where it could secure only 21 seats, much below its expectations. In Goa, the party even failed to open its account. It is time the party seriously rebuilds its strategy to remain a strong force in years to come.
          8. Indian economy – India’s Chief Economic Adviser Arvind Subramanian said that the year 2016 is a historical year for the global economy in as much as  many developed nations have started withdrawing from globalization, as was evident from events like Brexit. These developments are sure to have an impact on the Indian economy as well.
          9. Natural and other disasters – An earthquake of 5.9 magnitude struck Andaman and Nicobar islands. The epicenter of the quakes was in the Nicobar islands, which occurred at a depth of 10 kms.
          10. Indian politics – Former Karnataka Congress leader and India’s former External Affairs Minister S. M. Krishna is set to join the BJP soon. Krishna resigned from the Congress party in January this year breaking his 46 year old association with India’s oldest political party. An encouraging development for the BJP in the southern state of Karnataka.
          For Running Updates on Important Themes, go here

        • 1. भारतीय राजनीति - 5 राज्यों में फरवरी-मार्च 2017 के दौरान हुए विधानसभा चुनावों के परिणाम 11 मार्च को घोषित किये गए। भाजपा ने उ.प्र. और उत्तराखंड जैसे दो बड़े राज्यों में अप्रत्याशित सफलता प्राप्त की है। उन्होंने गोवा में भी सरकार का गठन कर लिया है, और मणिपुर में भी पार्टी की सरकार बनाने की कवायद जारी है। विश्लेषकों का मानना है कि इन परिणामों का भारतीय राजनीति पर दूरगामी प्रभाव पड़ेगा और ये भारतीय राजनीति को एक नई दिशा दे सकते हैं। इस विषय पर पूर्ण बोधि पढ़ें, यहाँ
          2. भारतीय राजनीति - हालांकि भाजपा ने गोवा में सरकार का गठन कर लिया है, परंतु इसके लिए देश को अपने रक्षामंत्री मनोहर पर्रीकर का त्याग करना पड़ा, जो वर्तमान स्थिति में रक्षामंत्री के लिए पद उपयुक्त नेता थे। यहाँ बड़ा प्रश्न यह है कि क्या देश के एक दल द्वारा राज्य में सत्ता प्राप्त करने के लिए अपने रक्षामंत्री की कुरबानी देना उपयुक्त है? भाजपा के इस कदम के विरुद्ध कांग्रेस ने सर्वोच्च न्यायालय ने अपील की थी, जिसपर निर्णय देते हुए न्यायालय ने मुख्यमंत्री के रूप में पर्रीकर को बनाए रखा है परंतु नई सरकार को 16 मार्च को विधानसभा में बहुमत सिद्ध करने का आदेश दिया है। गोवा की स्थिति पर पढ़ें, यहां
          3. भारतीय राजनीति - भारत के उत्तर-पूर्वी राज्य मणिपुर में भी हाल ही में विधानसभा चुनाव संपन्न हुए। परिणाम भाजपा के इस क्षेत्र में तेजी से उभरने की ओर इशारा करते हैं जिसपर आज तक कांग्रेस का ही वर्चस्व रहा है। भाजपा को पहली बार 21 सीटें प्राप्त हुईं, जो निश्चित रूप से पार्टी के लिए एक बड़ा उछाल है।
          4. भारतीय राजनीति - भाजपा को हाल के विधानसभा चुनावों में अपने दम पर पार्टी को अप्रत्याशित जीत दिलाने के उपलक्ष में प्रधानमंत्री का भारतीय जनता पार्टी मुख्यालय में सत्कार किया गया। इस अवसर पर अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने एक “नए भारत” का विचार रखा, जिसे भारतीय स्वतंत्रता के हीरक-जयंती वर्ष, 2022 तक प्राप्त करना है।
          5. विमुद्रीकरण - भारतीय रिजर्व बैंक ने विमुद्रीकरण के पश्चात बैंकों से नकद आहरण पर लेगे सभी प्रतिबंधों को 13 मार्च 2017 से समाप्त कर दिया है। इससे विमुद्रीकरण के पश्चात अर्थव्यवस्था के वापस पटरी पर लौटने के संकेत मिलते हैं।
          6. विमुद्रीकरण - 10 मार्च 2017 को आरबीआई ने विमुद्रीकरण के अर्थव्यवस्था पर पड़े प्रभाव के संबंध में अपना आधिकारिक आकलन जारी कर दिया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि अर्थव्यवस्था पर विमुदिकरण के प्रभाव क्षणिक थे और इनका अर्थव्यवस्था पर दूरगामी प्रभाव पड़ने की कोई संभावना नहीं है। इससे पूएव सांख्यिकी कार्यालय द्वारा जारी किये गए आंकडे भी इसी ओर संकेत देने वाले थे।
          7. व्यक्ति और व्यक्तित्व - हाल के विधानसभा चुनाव परिणामों ने आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल की चिंताएं बढ़ा दी हैं। पंजाब में पार्टी को सता प्राप्त करने की काफी संभावनाएं लग रही थीं परंतु अंततः उसे केवल 21 सीटों से ही संतुष्ट होना पड़ा। गोवा में तो पार्टी अपना खाता खोलने में भी नाकाम रही। पार्टी के लिए यह उचित समय है कि यदि आने वाले वर्षों में उसे भारतीय राजनीति में एक मजबूत स्थान बनाना है तो उसे अपनी रणनीतियों पर पुनर्विचार करना होगा।
          8. भारतीय अर्थव्यवस्था - मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यम ने कहा कि वर्ष 2016 वैश्विक अर्थव्यवस्था की दृष्टि से इस मायने में एक ऐतिहासिक वर्ष है कि अनेक विकसित देशों ने वैश्वीकरण से बाहर आना शुरू कर दिया है, जैसे कि ब्रेक्सिट की घटना दर्शाती है। इन सभी घटनाक्रमों का भारतीय अर्थव्यवस्था पर प्रभाव पड़ना निश्चित है।
          9. प्राकृतिक एवं अन्य आपदाएं - अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह में 5.9 तीव्रता का भूकंप आया। भूकंप का केंद्र पृथ्वी के 10 किलोमीटर अंदर निकोबार द्वीप के निकट था।
          10. भारतीय राजनीति - कर्नाटक के वरिष्ठ कांग्रेस नेता एस. एम. कृष्णा जल्दी ही भाजपा में प्रवेश कर सकते हैं। श्री कृष्णा ने इस वर्ष 29 जनवरी को कांग्रेस पार्टी से त्यागपत्र देकर देश की इस सबसे पुरानी पार्टी के साथ अपने 46 वर्ष पुराने संबंध समाप्त कर लिए थे। कृष्णा का भाजपा में आना पार्टी के लिए भारत के दक्षिणी राज्य कर्नाटक में अपनी स्थिति को मजबूत करने का संकेत है।

          महत्वपूर्ण विषयों पर लगातार अद्यतन हेतु, यहाँ जाएँ

          [ ##thumbs-o-up##  Share Testimonial here - make our day!]     [ ##certificate##  Volunteer for Bodhi Booster portal] 


Day Facts | आज के तथ्य


  • [message]
    • Day Facts for 14-03-2017 - DEFENCE AND MILITARY– THAAD, US, China – no first use policy
        • 1. THAAD (Terminal High Altitude Area Defence) is a US Army anti-ballistic missile system which is designed to target and shoot down all short, medium and intermediate range missiles in their terminal phase, and uses a hit-to-kill approach. The missile does not carry any warheads. It is not only a most modern weapon (defence) system, but also a major challenge to others.
          2. The weight of a typical THAAD missile is 900 Kg, its length being 6.17 meters and diameter of 34 cm.
          3. THAAD has been designed by Lockheed Martin in 1987 and THAAD’s first flight test was conducted in April 1995. Since then, it has been refined significantly.
          4. Recently, South Korean President Ms. Park Geun-hye’s (now removed after a scandal) decision in July 2016 to deploy THAAD to counter North Korea’s continued missile threats, led to a deterioration in relations with China. In Feb 2017, conglomerate Lotte Group allowed its land to be used for THAAD deployment. China has opposed this action by South Korea, and has threatened economic retaliation. The Lotte Group products are now boycotted across China!
          5. For fear of possible Chinese economic retaliation, many people in South Korea are also opposed to the deployment of THAAD. China has already banned much South Korean press, publications, radio films and television.
          6. China’s opposition to South Korea’s deployment is based on the fears that the US would be able to study all Chinese missile developments with the help of this installation, as it is being deployed just near the China-North Korea border. China fears this is the beginning of an Asian version of NATO, and its own ICBMs will be less effective as a deterrent now.
          7. China’s nuclear missile arsenal is much smaller (few hundred) as compared to that of the US and Russia, who have a much larger missile arsenal (several thousands). This has been the traditional Chinese approach since 1960s, Mao Zedong’s time.
          8. As of now, China has adopted a policy of no-first use. However, reacting to South Korea’s deployment of THAAD, China has said that it may be forced to reconsider its earlier policy of no-first use.
          9. China had purposely kept its policy of no-first use and maintaining a minimum missile arsenal on the principle laid down by Chairman Mao Zedong that the missile arsenal should be sufficient to maintain a credible retaliatory power. With the deployment of THAAD, their credible retaliatory power would be lost. That is spooking the Chinese now.
          10. The US move to deploy THAAD in South Korea may increase tension in the area. China has already warned both America and South Korea of consequences. The South China sea is already a potential flashpoint in the region.


        • 1. थाड (टर्मिनल हाई अल्टीट्यूड एरिया डिफेंस) अमेरिका की एक बैलिस्टिक मिसाइल रोधी मिसाइल प्रणाली है जिसकी रचना सभी छोटी दूरी की, मध्यम दूरी की और मध्यवर्ती दूरी की मिसाइलों को उनके अंतिम चरण में निशाना बनाकर उन्हें मार गिराने के लिए की गई है, और इसमें हिट टू किल का दृष्टिकोण अपनाया जाता है। इन मिसाइलों पर कोई हथियार नहीं ले जाए जाते। यह न केवल एक अतिआधुनिक हथियार (रक्षा) प्रणाली है, किंतु दूसरों के लिये बडी चुनौती भी।
          2. थाड मिसाइल का वजन 900 कि.ग्रा. होता है, इसकी लंबाई 6.17 मीटर होती है और इसका व्यास 34 से.मी. होता है।
          3. थाड की रचना लॉकहीड मार्टिन द्वारा वर्ष 1987 में की गई थी और थाड की पहली परीक्षण उड़ान अप्रैल 1995 में की गई थी। तब से अब तक, इसे परिष्कृत किया गया है।
          4. हाल ही में, दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति सुश्री पार्क ग्यून-हाई द्वारा (एक घोटाले के बाद जिन्हें हटा दिया गया है) जुलाई 2016 में दक्षिण कोरिया ने उत्तर कोरिया से निरंतर रूप से होने वाले मिसाइल हमलों के खतरे को देखते हुए थाड की तैनाती का निर्णय लिया गया, जिससे चीन के साथ रिश्ते तुरंत बिगड गये। चीन ने दक्षिण कोरिया के इस कदम का कडा विरोध किया है और उसने दक्षिण कोरिया को आर्थिक प्रतिशोध की चेतावनी दी है। जिस कंपनी लौट्टे ग्रुप ने अपनी भूमि थाड स्थापित करने हेतु दी उसके उत्पादों का पूरे चीन में बहिष्कार हो चका है।
          5. चीन के संभावित आर्थिक प्रतिशोध के डर से अनेक दक्षिण कोरियाई लोग भी इसकी तैनाती का विरोध कर रहे हैं। चीन ने पहले ही अनेक कोरियाई प्रेस, प्रकाशनों, रेडियो, फिल्मों और टेलीविजन कार्यक्रमों पर रोक लगा दी है।
          6. दक्षिण कोरिया द्वारा थाड की तैनाती का चीन द्वारा किया जाने वाला विरोध इस भय पर आधारित है कि इस तैनाती के माध्यम से अमेरिका उसके सभी मिसाइल प्रतिष्ठानों का अध्ययन कर पाएगा क्योंकि इसकी तैनाती ठीक चीन-उत्तर कोरिया सीमा के निकट की जा रही है। चीन को डर है कि यह नाटो के एक एशियाई स्वरूप की शुरूआत है और उसके अपने आई.सी.बी.एम. की प्रतिशोधक शक्ति अब कम हो जायेगी चूंकि उनकी जानकारी पहले ही मिल चुकी होगी।
          7. चीन का परमाणु मिसाइल जखीरा जिसमें कुछ सौ मिसाईले हैं, अमेरिका और रूस की तुलना में जिनमें हजारों हैं, काफी छोटा है।
          8. वर्तमान स्थिति में चीन ने “पहले हमला नहीं की नीति अपनाई है। हालांकि दक्षिण कोरिया द्वारा थाड की तैनाती पर प्रतिक्रिया देते हुए चीन ने कहा है कि इस स्थिति में उसे अपनी पहले हमला नहीं करने की नीति पर पुनर्विचार करना पड़ सकता है।
          9. चीन ने जानबूझकर पहले हमला नहीं करने और अपने मिसाइल जखीरे को छोटा रखने की नीति चेयरमैन माओ जेडॉन्ग के इस सिद्धांत के आधार पर अपनाई है कि मिसाइल हथियार इतने ही होने चाहिए ताकि एक विश्वसनीय प्रतिशोधक शक्ति बनाए रखी जा सके। अब उसे लगता है कि थाड की तैनाती उसकी विश्वसनीय प्रतिशोधक शक्ति कमजोर हो जाएगी।
          10. दक्षिण कोरिया में अमेरिका द्वारा थाड की तैनाती से इस क्षेत्र में तनाव बढेगा। चीन ने पहले ही अमेरिका और दक्षिण कोरिया को इसके परिणाम भुगतने की चेतावनी दे डाली है। दक्षिण‘चीनी सागर वैसे ही इस क्षेत्र में भीषण संघर्ष की शुरूआत करने हेतु सक्षम है।



          [ ##thumbs-o-up##  Share Testimonial here - make our day!]     [ ##certificate##  Volunteer for Bodhi Booster portal]

Read comprehensive Bodhis on crucial topics asked in examinations, here
ये सभी बोधियाँ हिंदी में समानांतर उपलब्ध हैं




Bodhi Shiksha | बोधि शिक्षा 

Welcome to the complete collection of all Open Videos of Bodhi Booster knowledge portal!
http://shiksha.bodhibooster.com, http://saar.bodhibooster.com


Bodhi Resources | बोधि संसाधन

Welcome to amazing downloadable and linked resources on Bodhi Resources
And don’t forget to also check English Learning resources on Bodhi Bhasha

www.BodhiBooster.com, http://hindi.bodhibooster.com, http://news.bodhibooster.com, http://bhasha.bodhibooster.com


Downloadable PDF here!  |  पीडीएफ डाउनलोड करें 











Name

Agriculture,3,Art Culture Literature,5,Bodhi News,84,Bodhi Saar,2,Bodhi Sameeksha,5,Celebrities,22,Climate change,3,Companies Products Services,37,Day Facts,82,Defence,32,Education,8,Energy,5,Governance,1,Happy New Year,1,History,2,Indian economy,42,Indian politics,35,Infrastructure,16,Law,35,Natural and other disasters,13,News Analysis,83,Personalities,2,Polity,2,Religion,5,Science and technology,14,Social issues,19,Sports,30,Terrorism,18,Trivia and miscellaneous,9,United Nations,6,World economy,10,World politics,32,World politics Terrorism,2,
ltr
item
Bodhi News: Bodhi News & Analysis - 14 Mar.
Bodhi News & Analysis - 14 Mar.
https://1.bp.blogspot.com/-X3P00uMeHAA/WH46Nykf3DI/AAAAAAAAAO8/snRg5db2WCI-31mCPo190rbM0ZIzpq43gCLcB/s320/Bodhi%2BNews%2B-%2B5%2Bfeatures.jpg
https://1.bp.blogspot.com/-X3P00uMeHAA/WH46Nykf3DI/AAAAAAAAAO8/snRg5db2WCI-31mCPo190rbM0ZIzpq43gCLcB/s72-c/Bodhi%2BNews%2B-%2B5%2Bfeatures.jpg
Bodhi News
http://news.bodhibooster.com/2017/03/Bodhi-Saar-14-Mar-Civil-Services-MBA-CAT-govt.exams.html
http://news.bodhibooster.com/
http://news.bodhibooster.com/
http://news.bodhibooster.com/2017/03/Bodhi-Saar-14-Mar-Civil-Services-MBA-CAT-govt.exams.html
true
3053167486953779424
UTF-8
Loaded All Posts Not found any posts VIEW ALL Readmore Reply Cancel reply Delete By Home PAGES POSTS View All RECOMMENDED FOR YOU LABEL ARCHIVE SEARCH ALL POSTS Not found any post match with your request Back Home Sunday Monday Tuesday Wednesday Thursday Friday Saturday Sun Mon Tue Wed Thu Fri Sat January February March April May June July August September October November December Jan Feb Mar Apr May Jun Jul Aug Sep Oct Nov Dec just now 1 minute ago $$1$$ minutes ago 1 hour ago $$1$$ hours ago Yesterday $$1$$ days ago $$1$$ weeks ago more than 5 weeks ago Followers Follow TO GET PDF DOWNLOAD LINK... Please share to unlock Copy All Code Select All Code All codes were copied to your clipboard Can not copy the codes / texts, please press [CTRL]+[C] (or CMD+C with Mac) to copy