Bodhi News & Analysis - 09 Mar.

Ideal for Professionals, all Govt. exams, MBA ent. tests, GD-PI, school students

http://saar.bodhibooster.com, www.BodhiBooster.com, http://news.bodhibooster.com


Welcome to Bodhi News for 09 March, 2017 - from Bodhi Booster knowledge portal!


Bodhi Saar (Video) | बोधि सार (विडियो)







Highlights | मुख्य समाचार

  • [message]
    •  Highlights for 09-03-2017
        • 1. Indian economy – The second phase of the Budget Session of Parliament begins from today. The session is important for the government because if the GST is to be rolled out from July 1, the National Goods and Service Tax (GST) Bill and other related bills need to get the consent of the Parliament now.
          2. World politics – China’s foreign minister has floated the idea of expanding the scope of BRICS by inviting other developing economies to join the group under a new name –BRICS Plus. This move by China is expected to dilute India’s role in BRICS significantly, and would be a big blow to India.
          3. Science and technology – NASA is planning to shield Mars from the Sun’s rays through an artificial magnetic field around the planet just like the Earth. The proposed plan is to make the planet a more habitable place for human colonization
          4. World politics – It seems things are still not going right for US President Trump. The state of Hawaii has become the first state to sue to stop President Trump’s revised travel ban. Hawaii had sued the earlier travel ban as well.
          5. Terrorism – The blast in the Bhopal – Indore passenger train perhaps marks the first attack by IS in India. The mastermind of this blast, Saifulla, was gunned down by the UP ATS in an encounter in Lucknow. Central intelligence agencies and MP and UP police have confirmed that the module owes allegiance to the Islamic State. MP police have also arrested eight other suspects in the case. The UP police has not confirmed the IS links.
          6. Demonetisation – FM Arun Jaitley said that the poor people and common man supported the government’s move largely because of the general perception that the rich evaded tax and demonetization was an for redistribution of wealth.
          7. Education – PM Modi said the government has streamlined the medical education sector and created 4000 new post-graduate seats in medical colleges to resolve the problem of scarcity of doctors in the country.
          8. Persons and personalities – China’s foreign ministry called the Dalai Lama a deceptive actor. The Chinese foreign ministry’s response came after the exiled Tibetan spiritual leader said that a part of Chinese hard liners’ brains was missing.
          9. Defence and military – China announced a 7% increase in its defence spending for the year. The Chinese announcement came soon after US President Trump called for a 10% increase in the US defence budget. There seems to be a competition between the two countries, and China is catching up in both equipment as well as capability.
          10. United Nations – The UN Security Council strongly condemned North Korea’s recent ballistic missile launches and expressed serious concerns over its increasingly destabilizing and  hostile behavior. The missile tests have been described as grave violation of UN resolutions prohibiting that country from developing missile technology.
          For Running Updates on Important Themes, go here

        • 1. भारतीय अर्थव्यवस्था - संसद के बजट अधिवेशन का दूसरा चरण आज से शुरू हो रहा है। सरकार की दृष्टि से यह अधिवेशन इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि यदि जीएसटी शासन को प्रस्तावित 1 जुलाई से लागू करना है तो इस अधिवेशन में राष्ट्रीय वस्तु एवं सेवा कर विधेयक और उससे संबंधित अन्य अनेक विधेयकों को संसद की मंजूरी मिलना आवश्यक है।
          2. विश्व राजनीति - चीन के विदेशमंत्री ने ब्रिक्स के विस्तार को लेकर एक नया विचार प्रस्तुत किया है और कहा है कि अन्य विकासशील देशों को भी ब्रिक्स प्लस के तहत इसमें जुड़ने के लिए आमंत्रित किया जाना चाहिए। चीन का यह प्रस्तावित कदम ब्रिक्स में भारत की भूमिका को काफी कम कर सकता है और यह भारत के लिए एक बड़ा आघात होगा।
          3. विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी - नासा मंगलग्रह को उसके इर्द-गिर्द एक कृत्रिम चुंबकीय ढाल के माध्यम से सूर्य की किरणों से उसी प्रकार से संरक्षित करने की योजना बना रहा है जैसी पृथ्वी की है। प्रस्तावित योजना उस ग्रह को मानव बस्तियों के लिए अधिक निवास-योग्य बनाने के लिए बनाई जा रही है।
          4. विश्व राजनीति - ऐसा प्रतीत होता है कि अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प के लिए सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। अमेरिका का हवाई राज्य राष्ट्रपति के संशोधित यात्रा प्रतिबंध को न्यायालय में चुनौती देने वाला अमेरिका का पहला राज्य बन गया है। इस राज्य ने राष्ट्रपति के पिछले यात्रा प्रतिबंध को भी न्यायालय में चुनौती दी थी।
          5. आतंकवाद - भोपाल-इंदौर सवारी गाड़ी में हुए बम विस्फोट को खतरनाक आतंकी गुट इस्लामिक स्टेट की भारत में पहली दस्तक माना जा रहा है। इस विस्फोट का मास्टरमाइंड, सैफुल्ला को लखनऊ में उत्तरप्रदेश पुलिस के आतंकवाद-विरोधी दल ने एक एनकाउंटर में मार गिराया है। केंद्रीय खुफिया एजेंसियों और मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश पुलिस ने इस बात की पुष्टि की है कि इस मॉड्यूल का संबंध आईएसआईएस से था। मध्यप्रदेश पुलिस ने इस संबंध में आठ अन्य संदिग्धों को गिरफ्तार किया है। उ.प्र. पुलिस ने हालांकि आई.एस. के संबंधों को लेकर स्पश्टता नही होने की बात कही है।
          6. विमुद्रीकरण - वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा कि देश के गरीब वर्ग और आम जनता ने सरकार के विमुद्रीकरण के कदम का इसलिए समर्थन किया क्योंकि जनता के मन में एक आम धारणा है कि अमीर लोग कर चोरी करते हैं और सरकार का यहाँ कदम संपत्ति के पुनर्वितरण की दिशा में किया गया एक प्रयास था।
          7. शिक्षा - प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सरकार ने चिकित्सा शिक्षा क्षेत्र को सुव्यवस्थित कर दिया है और चिकित्सा महाविद्यालयों में स्नातकोत्तर की 4000 अतिरिक्त सीटें निर्मित की हैं ताकि देश में चिकित्सकों की कमी की समस्या को सुलझाया जा सके।
          8. व्यक्ति और व्यक्तित्व - चीन के विदेश मंत्रालय ने दलाई लामा को एक भ्रामक अभिनेता कहा है। चीनी विदेशमंत्रालय की यह प्रतिक्रिया निर्वासित तिब्बती आध्यात्मिक नेता की उस टिप्पणी के बाद आई जिसमें उन्होंने कहा था कि चीनी कट्टरपंथियों के मस्तिष्क का एक हिस्सा गायब है।
          9. रक्षा एवं सेना - चीन ने चालू वर्ष के अपने रक्षा व्यय में 7 प्रतिशत की वृद्धि की घोषणा की है। चीन की यह घोषणा राष्ट्रपति ट्रम्प की उस घोषणा के ठीक बाद में की गई है जिसमें उन्होंने अमेरिकी रक्षा बजट में 10 प्रतिशत की वृद्धि की मांग की है। ऐसा प्रतीत होता है कि इन दोनों देशों के बीच इस संबंध में प्रतियोगिता है, और चीन उपकरणों और क्षमता की दृष्टि से तेजी से अमेरिका के निकट आता जा रहा है।
          10. संयुक्त राष्ट्र - संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने उत्तर कोरिया द्वारा हाल ही में किये गए बैलिस्टिक मिसाइल प्रक्षेपणों की कड़े शब्दों में निंदा की है, और उसके बढ़ते शत्रुतापूर्ण और अस्थिरता निर्माण करने वाले व्यवहार पर गंभीर चिंता व्यक्त की है। इन मिसाइल परीक्षणों को संयुक्त राष्ट्र द्वारा उस देश पर मिसाइल प्रौद्योगिकी विकसित करने पर लगाए गए प्रतिबंधों का गंभीर उल्लंघन बताया है।

          महत्वपूर्ण विषयों पर लगातार अद्यतन हेतु, यहाँ जाएँ

          [ ##thumbs-o-up##  Share Testimonial here - make our day!]     [ ##certificate##  Volunteer for Bodhi Booster portal] 


Day Facts | आज के तथ्य


[##anchor## Read Part 2 here]

  • [message]
    • Day Facts for 09-03-2017 -  SCIENCE AND TECHNOLOGY – Famous scientists of India – Part 1
        • 1. Sir Jagadish Chandra Bose (1858-1937) was originally interested in Biology, but his teachers inspired in him interest for Physics. He obtained his B.A. degree from Christ College, Cambridge, and returned to India in 1885 and joined Presidency College, Kolkata. Bose developed the use of galena crystals for making receivers, both for short wavelength radio waves and for white and ultraviolet light. In 1895, two years before Marconi’s demonstration, Bose demonstrated wireless communication using radio waves, using them to ring a bell remotely and to explode some gunpowder. Bose was knighted in 1917 and soon thereafter elected Fellow of the Royal Society, London, (both as physicist and biologist!).
          2. Srinivasa Ramanujan (1887-1920) came across the book “Synopsis of Elementary Results in Pure Mathematics” by G. S. Carr, during his high school. Influenced by it, he began working on mathematics on his own, summing geometric and arithmetic series. His research paper on Bernoulli numbers, in 1911, brought him recognition as a mathematical genius. Ramanujan’s work with G.H.Hardy of Cambridge produced important results. He made outstanding contributions to analytical number theory, elliptic functions, continued fractions, and infinite series.
          3. Sir C. V. Raman’s (1888-1970) academic brilliance was established at a very young age. When he was barely eighteen, he graduated at the top of his class and received his M.A. degree with honours. He made enormous contributions to research in the areas of vibration, sound, musical instruments, ultrasonics, diffraction, photoelectricity, colloidal particles, X-ray diffraction, magnetron, dielectrics, etc. In 1928, he announced his discovery of what is now known as the Raman Effect. He was knighted in 1929, and in 1930, became the first Asian scientist to be awarded the Nobel Prize for Physics for his discoveries relating to the scattering of light (the Raman Effect). In 1934, he became the Director of the newly established Indian Institute of Science at Bangalore, where he remained till his retirement. The Government of India conferred upon him its highest award,the Bharat Ratna in 1954.
          4. Meghnad Saha (1893-1956) established himself as one of the leading physicists of the time. His theory of high-temperature ionization of elements and its application to stellar atmospheres, as expressed by the Saha equation, is fundamental to modern astrophysics. Subsequent development of his ideas has led to increased knowledge of the pressure and temperature distributions of stellar atmospheres. In 1947 he established the Indian Institute of Nuclear Physics (now known as the Saha Institute of Nuclear Physics).
          5. Satyendra Nath Bose (1894-1974)  did his schooling at Hindu School, Kolkata, and then joined Presidency College. His teacher at the Presidency College was Jagadish Chandra Bose - whose other stellar pupil was Meghnad Saha. He derived with Saha, the Saha-Bose equation of state for a nonideal gas. In 1921, Bose left Kolkata to become a Reader at the Dakha University. It was during this period that he wrote the famous paper on the statistics of photons. It was named Bose statistics after him and is now an integral part of physics. Paul Dirac, the legendary physicist, coined the term boson for particles obeying these statistics.
          6. Shanti Swarup Bhatnagar (1894-1955) had a deep interest since a very early age in geometry and algebra and in making mechanical toys. In August 1940, Bhatnagar took over as the Director of the newly created Directorate of Scientific and Industrial Research. This organization became the Council of Scientific and Industrial Research. Bhatnagar’s tenure saw the setting up of 12 laboratories and the total number of CSIR laboratories today stands at 40. Shanti Swarup Bhatnagar played a significant part along with Homi Bhabha, Prasanta Chandra Mahalanobis, Vikram Sarabhai and others in building of post-independence Science & Technology infrastructure and in the formulation of India’s science policies. [##anchor## Read Part 2 here]


        • 1. सर जगदीश चंद्र बोस (1858-1937) की प्रारंभ में जीव-विज्ञान में रूचि थी, परंतु उनके शिक्षक ने उनमें भौतिकशास्त्र के प्रति रूचि प्रेरित की। उन्होंने कला में स्नातक की उपाधि कैंब्रिज के क्राइस्ट कॉलेज से प्राप्त की और वर्ष 1885 में वे भारत वापस आ गए, जहाँ कोलकाता के प्रेसीडेंसी कॉलेज में प्रवेश लिया। बोस ने रिसीवर (चोगा) के निर्माण के लिए,लघु तरंगदैर्ध्य रेडियो तरंग और श्वेत और पराबैंगनी प्रकाश, दोनों के लिए गैलेना (सीसे का धातु-पाषाण) माणभ का उपयोग किया। मारकोनी के प्रदर्शन से दो वर्ष पूर्व वर्ष 1895 में बोस ने रडियो तरंग के उपयोग से बेतार संचार का प्रदर्शन किया, जिसका उपयोग उन्होंने दूर से एक घंटी बजाने और कुछ बारूद में विस्फोट के लिए किया। वर्ष 1917 में बोस को नाइट की उपाधि प्रदान की गई और उसके कुछ समय बाद वे लंदन की रॉयल सोसाइटी के फेलो चुने गए (भौतिकशास्त्री और जीवविज्ञानी, दोनों के रूप में!) ।
          2. श्रीनिवास रामानुजम (1887-1920) ने अपनी माध्यमिक शिक्षा के दौरान जी. एस. कार्र द्वारा लिखी गई पुस्तक “शुद्ध गणित में प्राथमिक परिणाम का सारांश” पढ़ी। इससे प्रभावित होकर उन्होंने स्वयं ही गणित पर काम करना शुरू किया और ज्यामितीय और अंकगणितीय श्रेणियों को संक्षिप्त किया। वर्ष 1911 में बर्नोली संख्याओं पर उनके शोध-पत्र के उन्हें निपुण गणितज्ञ के रूप में मान्यता दिलाई। कैंब्रिज के जी. एच. हार्डी के साथ किये गए उनके कार्यों ने महत्वपूर्ण परिणाम दिए। उन्होंने विश्लेषणात्मक संख्या सिद्धांत, दीर्घवृत्तीय फलन, निरंतर भिन्न अंक, और अनंत श्रेणी में असाधारण योगदान दिया।
          3. सर सी. वी. रामन  (1888-1970) की शैक्षणिक प्रतिभा काफी युवावस्था में ही स्थापित हुई। जब वे केवल अठारह वर्ष के थे वे अपनी कक्षा में शीर्ष पर रहते हुए स्नातक बने और उन्होंने एम.ए. की उपाधि ऑनर्स के साथ उत्तीर्ण की। उन्होंने कंपन, ध्वनि, संगीत वाद्ययंत्र, अल्ट्रासोनिक्स, विवर्तन, फोटोइलेक्ट्रिसिटी, कोलाइडयनल कण, एक्स-रे विवर्तन, मैग्नेट्रोन, डायलेक्ट्रिक्स इत्यादि में असाधारण योगदान दिया। वर्ष 1928 में उन्होंने अपनी उस खोज की घोषणा की जिसे अब रामन प्रभाव कहा जाता है। वर्ष 1929 में उन्हें नाइट की उपाधि प्रदान की गई और वर्ष 1930 में वे प्रकाश के प्रकीर्णन (रामन प्रभाव) से संबंधित उनकी खोजों के लिए भौतिकशास्त्र में नोबेल पुरस्कार प्राप्त करने वाले पहले एशियाई वैज्ञानिक बने। वर्ष 1934 में वे बंगलोरे में नए स्थापित भारतीय विज्ञान संस्थान के निदेशक बने, जहाँ वे सेवा निवृत्ति तक रहे। भारत सरकार ने वर्ष 1954 में उन्हें देश के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार “भारत रत्न” से सम्मानित किया।
          4. मेघनाद साहा (1893-1956) ने स्वयं को अपने समय के शीर्ष भौतिकशास्त्रियों में से एक के रूप में स्थपित किया। तत्वों के उच्च तापमान आयनीकरण और तारकीय वायुमंडल में उसके अनुप्रयोग का उनका सिद्धांत, जिसे साहा समीकरण के रूप में व्यक्त किया जाता है, आधुनिक खगोल भौतिकी का मूल आधार है। उनके विचारों के बाद के विकास का परिणाम तारकीय वायुमंडल के दबाव और तापमान वितरण के और अधिक ज्ञान में हुआ। वर्ष 1947 में उन्होंने भारतीय नाभिकीय भौतिकी संस्थान की स्थापना की (जिसे साहा नाभिकीय भौतिकी संस्थान कहा जाता है) ।
          5. सत्येन्द्रनाथ बोस (1894-1974) की विद्यालयीन शिक्षा कोलकाता के हिंदू स्कूल में हुई और बाद में उन्होंने प्रेसीडेंसी कॉलेज में प्रवेश लिया। प्रेसीडेंसी कॉलेज में उनके शिक्षक थे जगदीशचंद्र बोस दृ जिनके अन्य प्रतिभावान विद्यार्थी थे मेघनाद साहा। उन्होंने साहा के साथ मिलकर गैर-पक्षीय गैस के लिए साहा-बोस स्थिति समीकरण उत्पन्न किया। वर्ष 1921 में बोस ने कोलकाता छोड़ दिया और वे ढाका विश्वविद्यालय में व्याख्याता बन गए। इस समय के दौरान उन्होंने फोटोंस की सांख्यिकी पर अपना प्रसिद्ध शोध-पत्र लिखा। इसे उनके नाम पर बोस सांख्यिकी कहा जाता है और अब यह भौतिक शास्त्र का एक अभिन्न अंग है। प्रसिद्ध भौतिकशास्त्री पॉल डिराक ने इन संख्यिकियों का पालन करने वाले कणों के लिए बोसॉन शब्द की रचना की।
          6. शांति स्वरुप भटनागर (1894-1955) की छोटी आयु से ही ज्यामिति और बीजगणित में और यांत्रिक खिलौने बनाने गहरी रूचि थी। अगस्त 1940 में भटनागर ने नव गठित वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान निदेशालय के निदेशक का पदभार संभाला। यह संगठन बाद में वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद बना। भटनागर के कार्यकाल में 12 प्रयोगशालाएँ स्थापित हुई, आज सीएसआईआर प्रयोगशालाओं कि कुल संख्या 40 तक पहुँच गई है। शांति स्वरुप भटनागर ने डॉ. होमी भाभा, प्रशांत चंद्र महालनोबिस, विक्रम साराभाई और अन्य के साथ स्वतंत्रता पश्चात के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी अधोसंरचना के निर्माण और भारत की विज्ञान नीतियों के निर्माण में महत्वपूर्ण सहयोग किया।   [##anchor## भाग २ पढ़ें यहाँ]                    



          [ ##thumbs-o-up##  Share Testimonial here - make our day!]     [ ##certificate##  Volunteer for Bodhi Booster portal]

Read comprehensive Bodhis on crucial topics asked in examinations, here
ये सभी बोधियाँ हिंदी में समानांतर उपलब्ध हैं




Bodhi Shiksha | बोधि शिक्षा 

Welcome to the complete collection of all Open Videos of Bodhi Booster knowledge portal!
http://shiksha.bodhibooster.com, http://saar.bodhibooster.com


Bodhi Resources | बोधि संसाधन

Welcome to amazing downloadable and linked resources on Bodhi Resources
And don’t forget to also check English Learning resources on Bodhi Bhasha

www.BodhiBooster.com, http://hindi.bodhibooster.com, http://news.bodhibooster.com, http://bhasha.bodhibooster.com


Downloadable PDF here!  |  पीडीएफ डाउनलोड करें 











Name

Agriculture,3,Art Culture Literature,5,Bodhi News,84,Bodhi Saar,2,Bodhi Sameeksha,5,Celebrities,22,Climate change,3,Companies Products Services,37,Day Facts,82,Defence,32,Education,8,Energy,5,Governance,1,Happy New Year,1,History,2,Indian economy,42,Indian politics,35,Infrastructure,16,Law,35,Natural and other disasters,13,News Analysis,83,Personalities,2,Polity,2,Religion,5,Science and technology,14,Social issues,19,Sports,30,Terrorism,18,Trivia and miscellaneous,9,United Nations,6,World economy,10,World politics,32,World politics Terrorism,2,
ltr
item
Bodhi News: Bodhi News & Analysis - 09 Mar.
Bodhi News & Analysis - 09 Mar.
https://1.bp.blogspot.com/-X3P00uMeHAA/WH46Nykf3DI/AAAAAAAAAO8/snRg5db2WCI-31mCPo190rbM0ZIzpq43gCLcB/s320/Bodhi%2BNews%2B-%2B5%2Bfeatures.jpg
https://1.bp.blogspot.com/-X3P00uMeHAA/WH46Nykf3DI/AAAAAAAAAO8/snRg5db2WCI-31mCPo190rbM0ZIzpq43gCLcB/s72-c/Bodhi%2BNews%2B-%2B5%2Bfeatures.jpg
Bodhi News
http://news.bodhibooster.com/2017/03/Bodhi-Saar-09-Mar-Civil-Services-MBA-CAT-govt.exams.html
http://news.bodhibooster.com/
http://news.bodhibooster.com/
http://news.bodhibooster.com/2017/03/Bodhi-Saar-09-Mar-Civil-Services-MBA-CAT-govt.exams.html
true
3053167486953779424
UTF-8
Loaded All Posts Not found any posts VIEW ALL Readmore Reply Cancel reply Delete By Home PAGES POSTS View All RECOMMENDED FOR YOU LABEL ARCHIVE SEARCH ALL POSTS Not found any post match with your request Back Home Sunday Monday Tuesday Wednesday Thursday Friday Saturday Sun Mon Tue Wed Thu Fri Sat January February March April May June July August September October November December Jan Feb Mar Apr May Jun Jul Aug Sep Oct Nov Dec just now 1 minute ago $$1$$ minutes ago 1 hour ago $$1$$ hours ago Yesterday $$1$$ days ago $$1$$ weeks ago more than 5 weeks ago Followers Follow TO GET PDF DOWNLOAD LINK... Please share to unlock Copy All Code Select All Code All codes were copied to your clipboard Can not copy the codes / texts, please press [CTRL]+[C] (or CMD+C with Mac) to copy